Google search engine
Homeसेलिब्रिटीज एंड एंटरटेनमेंटSeema Deo: फिल्म जगत की महान हस्ती का हुआ निधन।

Seema Deo: फिल्म जगत की महान हस्ती का हुआ निधन।

Seema Deo: अल्ज़ाइमर नामक बीमारी से थी पीड़ित

लम्बे समय से बीमारियों से जूझ रही 81 वर्षीय सीमा देव अब इस दुनिया में नहीं रही। उन्हें एक अल्ज़ाइमर नामक भीमारी थी जिनसे वह पीड़ित थी। उनके जाने से पुरे बॉलीवुड और फिल्म इंडस्ट्री में शोक की लहर दौड़ पड़ी है।

सीमा देव जो की एक मशहूर मराठी एक्ट्रेस थी उन्होंने अमिताभ बच्चन, राजेश खन्ना जैसे दिग्गज अभिनेताओं के साथ काम किया था। और कई हिट मूवी जैसे आनंद, कोशिश, कोरा कागज़ में उन्होंने शानदार अभिनय किया था।  

Seema Deo
Late Shri Ramesh Deo and his wife Seema Deo

Seema Deo: एक अभिनय की महान यात्रा का संचित्रण

आज, हम हिंदी सिनेमा की एक महान अभिनेत्री सीमा देव की याद में इस लेख के माध्यम से उनके जीवन पर एक नज़र डालेंगे। उन्होंने 81 साल की उम्र में अपनी आखिरी सांस ली, लेकिन उनके अभिनय की दुनिया में आज भी गरजती है।

एक उम्र, अनगिनत किरदार कई बड़ी हिंदी फिल्मों में किया यह खास काम

Seema Deo

सीमा देव ने अपने शौकिया अभिनय के लिए जानी जाती थीं। उन्होंने अपने करियर के सफर में 80 से अधिक फिल्मों में काम किया, जिनमें ‘जगच्या पथिवर’, ‘वरदक्षिणा’, ‘आनंद’, ‘कोशिश’, ‘कोरा कागज़’ और ‘जीवन संध्या’ जैसी फिल्में शामिल हैं।

हिंदी सिनेमा के कुछ दिग्गज अभिनेता के साथ काम कर चुकी थी

सीमा देव का अभिनय क्षेत्र में अद्वितीय योगदान रहा है। उन्होंने ‘आनंद’ फिल्म में अमिताभ बच्चन की भाभी का किरदार निभाया था, जिसने हमें एक खास यादगार परिप्रेक्ष्य दिया। उन्होंने ‘डॉ. प्रकाश कुलकर्णी’ की पत्नी का किरदार भी निभाया था, जिसमें वे अपने रियल पति रमेश देव के साथ नजर आई थीं।

आलस्य नहीं, संघर्ष की मिसाल

सीमा देव के जीवन में आलस्य का कोई स्थान नहीं था। उन्होंने अपने करियर के साथ-साथ अल्जाइमर के संघर्ष से भी मुकाबला किया। उनके बेटे ने बताया कि उन्हें यह समस्या थी, लेकिन वे हमेशा अपने काम में समर्पित रहीं।

गुरु की महत्वपूर्ण भूमिका

Seema Deo
सीमा देव और उनके गुरु राजा परांजपे।

सीमा देव ने खुद कहा था कि उनके करियर का श्रेय उनके गुरु राजा परांजपे को जाता है। उनके शब्दों में, “मैं अपने करियर में जो कुछ भी हासिल कर सकी, वह सब मेरे गुरु राजा परांजपे की वजह से है।”

उनके विचार जो आज भी हमें मार्गदर्शन प्रदान करते हैं

सीमा देव के जीवन में उनके अभिनय से अधिक महत्वपूर्ण उनके विचार और सोच थी। उन्होंने कहा था, “मुझे लगता है कि अभिनय का कोई विशेष नियम नहीं है, आपको अपने किरदार के साथ जुड़ना होता है।”

सीमा देव ने अपने जीवन में अनेकों मुश्किलों का सामना किया, लेकिन उन्होंने हमेशा अपने करियर में महत्वपूर्ण काम किया और हमें एक सशक्त मिसाल प्रस्तुत की है। उनकी यादें हमें हमेशा प्रेरित करती रहेंगी, और हम उन्हें उनकी महान अभिनय यात्रा के संचित्रण के रूप में स्मरण करेंगे।

खबरों के लिए जुड़े रहे IPP News के साथ।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments